ads

गुड मॉर्निंग स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सएप्प ▷ good morning status in hindi

गुड मॉर्निंग स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सएप्प ▷ good morning status in hindi
    गुड मॉर्निंग स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सएप्प ▷ good morning status in hindi

    गुड मॉर्निंग स्टेटस इन हिंदी फॉर व्हाट्सएप्प ▷ good morning status in hindi : 

    वादा किया है तो ज़रूर निभाएँगे, सूरज की किरण बनकर छत पे आएँगे, हम हैं तो जुदाई का गम कैसा, तेरी हर सुबह को फूलो से सजाएँगे!!

    फूलों की वादियों में हो बसेरा तेरा, सितारों के आँगन में हो घर तेरा, दुआ है मेरी दिल से कि तुझसे भी खूबसूरत हो सवेरा तेरा!!

    देखो बीत गयी तारों वाली सुनहरी रात, याद आई फिर वही प्यारी सी बात, इसलिए मुस्कुरा के करना दिन की शुरुआत!!

    हजारो बिताये सालो से बेहतर है तुम्हारे साथ बिता मेरा एक लम्हा!!

    कदर किरदार की होती है… वरना… कद में तो साया भी इंसान से बड़ा होता है.. !!

    जिंदगी के नियम भी कुछ कब्बडी के खेल जैसे है . सफलता की लाइन टच करते ही लोग आपके पैर खीच ने लग जाते है.. !!

    मौत तो मुफ्त में बदनाम है दोस्तों जान तो सच मे जिंदगी ही लेती.. !!

    दो ही चीजें ऐसी हैं, जिस में किसी का कुछ नहीं जाता एक ‘; मुस्कुराहट ‘; और दूसरी ‘; दुआ ‘;, हमेंशा बांटते रहे.

    ताज़ी हवा मे फुलो की महक हो, पहली किरण मे चिड़ियो की चहक हो, जब भी खोलो तुम अपनी पलके उन पल्को मे बस खुशियो की झलक हो!!

    में जब भी सुबह आँखे खोलूं में सिर्फ तुम्हे देखना चाहता हूँ!!

    हमे कहाँ मालूम था क़ि इश्क़ क्या होता क्या है, बस एक तुम मिले और ज़िन्दगी हमारी मोहब्बत बन गई!!

    तुम कभी भी मत बदलना क्योंकि तुम जैसी हो मैंने वैसे ही तुमसे प्यार किया है!!

    जिंदगी के नियम भी कुछ कब्बडी के खेल जैसे है . सफलता की लाइन टच करते ही लोग आपके पैर खीच ने लग जाते है.. !!

    मौत तो मुफ्त में बदनाम है दोस्तों जान तो सच मे जिंदगी ही लेती.. !!

    दो ही चीजें ऐसी हैं, जिस में किसी का कुछ नहीं जाता एक ‘; मुस्कुराहट ‘; और दूसरी ‘; दुआ ‘;, हमेंशा बांटते रहे.

    मौत तो मुफ्त में बदनाम है दोस्तों जान तो सच मे जिंदगी ही लेती.. !!

    यदि सफलता एक सुन्दर पुष्प है तो विनम्रता उसकी सुगन्ध.. !!

    मैं आप के बारे में सोच रहा था, और मुझे आश्चर्य हुआ कि आप कितनी देर तक मेरे ज़हन में थे तब मुझे एहसास हुआ: जबसे आप मुझे मिले, आपने कभी मेरा साथ नहीं छोड़ा!!

    आपकी यादें मुझे जगाये रखती है, आपके सपने मुझे सुलाए रखती है, और आपका साथ मुझे जिन्दा रखता है!!

    गलत सुना था कि मोहब्बत आँखों से होती है, दिल तो वो भी चुरा लेते हैं जो पलकें नहीं उठाते!!

    आप हमेशा मुझे ये एहसास दिलाती हो की में दुनियां की सबसे खुशनसीब लड़की हूँ!!

    ये मत पुछा करो की मैं तुमसे कितना प्यार करती हूँ, बस इतना जान लो कि में बस तुमसे प्यार करती हूँ और बेपनाह प्यार करती हूँ!!

    हर सुबह तेरी दुनिया में रौशनी कर दे_रब तेरे गम को तेरी ख़ुशी कर दे. जब भी टूटने लगे तेरी सांसें_खुद तुझमें शामिल मेरी ज़िन्दगी कर दे

    रात की चांदनी से मांगता हु.सवेराफूलों की चमक से मांगता हु रंग गहरा दौलत शोहरत से ताल्लुख़ नहीं है मेरा_मुझे चाहिए हर सुबह में बस साथ तेरा

    सपनो के जहाँ से अब लौट आऔ_हुई हे सुबह अब जाग जाओ चांद – तारों को अब कह कर अलविदा_इस नए दिन की खुँशियों मे खो जाओ

    आपकी नयी सुबह इतनी सयानी हो जाये_दुःखों की सारी बाते आपकी पुरानी हो जाये दे जाये इतनी खुशियाँ ये दिन_कि खुशी भी आपकी मुस्कुराहट की दिवानी हो जाये

    जो मुस्कुरा रहा है, उसे दर्द ने पाला होगा_जो चल रहा है, उसके पाँव में छाला होगा बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता, यारों_जो जलेगा उसी दिये में तो, उजाला होगा

    जिसने दी है जिंदगी उसका_साया भी नज़र नहीं आता यूँ तो भर जाती है झोलियाँ_मगर देने वाला नज़र नही आता

    मुश्किल भरी सुबह है, अपना हाथ दिल पर रखो। इसे महसूस करो। इसे मकसद कहते हैं। तुम किसी वज़ह से ज़िंदा हो। हार मत मानो!!

    जो मुस्कुरा रहा है उसे दर्द ने पाला होगा, जो चल रहा है उसके पाँव में छाला होगा, बिना संघर्ष के इन्सान चमक नही सकता, जो जलेगा उसी दिये में तो उजाला होगा!!

    जीत निश्चित हो तो कायर भी लड़ सकते हैं, बहादुर वे कहलाते हैं, जो हार निश्चित हो, फिर भी मैदान नहीं छोड़ते!!

    डर मुझे भी लगा फांसला देख कर, पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर, खुद ब खुद मेरे नज़दीक आती गई मेरी मंज़िल मेरा हौंसला देख कर!!

    शाम सूरज को ढ़लना सिखाती है,शमा परवाने को जलना सिखाती है, गिरने वाले को होती तो है तकलीफ, पर ठोकर ही इंसान को चलना सिखाती है!!

    उनकी ‘परवाह’ मत करो­_जिनका ‘विश्वास’ “वक्त” के साथ बदल जाये_ परवाह’ सदा ‘उनकी’ करो_जिनका ‘विश्वास’ आप पर “तब भी_रहे_जब आप का “वक्त बदल” जाये.

    कल एक झलक ज़िंदगी को देखा_वो राहों पे मेरी गुनगुना रही थी, फिर ढूँढा उसे इधर उधर_वो आँख मिचौली कर मुस्कुरा रही थी,

    एक अरसे के बाद आया मुझे क़रार_वो सहला के मुझे सुला रही थी हम दोनों क्यूँ ख़फ़ा हैं एक दूसरे से_मैं उसे और वो मुझे समझा रही थी, मैंने पूछ लिया- क्यों इतना दर्द दिया_कमबख़्त तूने_वो हँसी और बोली_मैं ज़िंदगी हूँ_तुझे जीना सिखा रही थी

    ज्यादा कुछ नही बदलता उम्र बढने के साथ, बचपन की जिद समझौतों मे बदल जाती है.. !!

    फलदार पेड़ और गुणवान व्यक्ति ही झुकते है , सुखा पेड़ और मुर्ख व्यक्ति कभी नहीं झुकते.. !!

    दो ही चीजें ऐसी हैं, जिस में किसी का कुछ नहीं जाता एक ‘; मुस्कुराहट ‘; और दूसरी ‘; दुआ ‘;, हमेंशा बांटते रहे.

    दौड़ने दो खुले मैदानों में नन्हे कदमों को,,, साहब… ज़िन्दगी बहुत भगाती है बचपन गुजर जाने के बाद.. !!

    कदर होती है इंसान की जरुरत पड़ने पर ही. बिना जरुरत के तो हीरे भी तिजोरी में रहते है.. !!

    जिन्हें “सपने देखना” अच्छा लगता है, उन्हें रात छोटी लगती है, और जिन्हें “सपने पूरे करना” अच्छा लगता है, उन्हें दिन छोटा लगता है

    अच्छी सोच” “अच्छा विचार” “अच्छी भावना” मन को हल्का करता है.. !!

    सत्य शेर की तरह है, आपको इसे बचाने की ज़रूरत नहीं है इसे खुला छोड़ दो, यह अपना बचाव खुद कर लेगा

    कोई मुझ से पूछ बैठा ‘बदलना’ किस को कहते हैं? सोच में पड़ गया हूँ मिसाल किस की दूँ, “मौसम” की या “अपनों” की.

    हाल पूछ लेने से कौन सा हाल ठीक हो जाता है… बस तसल्ली हो जाती हे कि इस भीड़ भरी दुनिया में कोई अपना भी है



    Post a Comment